एफिलिएट मार्केटर्स के लिए एफिलिएट मार्केटिंग की शीर्ष सफल योजनाएँ | Top Successful Marketing Strategies For Affiliate Marketers In Hindi

Top Successful Marketing Strategies For Affiliate Marketers In Hindi

एफिलिएट मार्केटिंग में विज्ञापन और मार्केटिंग उत्पाद दोनों शामिल है तथा यह ऑनलाइन अपना व्यापार शुरू करने का एक तेज़ और सरल तरीका है। एक वेब मार्केटर के रूप में आपको एफिलिएट मार्केटिंग के लाभ देने वाले बिंदुओं को पहचानना चाहिए। इसके लिए आप विभिन्न ई-पुस्तकों या सेवाओं की खोज कर सकते है, जो यह बताती हैं कि एफिलिएट मार्केटिंग क्या है और इसे शुरू करने में कितनी परेशानियाँ होती है।

 

Top Successful Marketing Strategies For Affiliate Marketers In Hindi

 

एफिलिएट मार्केटिंग की बात की जाए तो यह कई मायनों में आपके व्यवसाय के लिए सहायक है। यह व्यापारियों व वेब मार्केटर्स दोनों के लिए भी बहुत फायदेमंद हो सकता है। यह ऑनलाइन सबसे सस्ता व्यवसाय हो सकता है, जिसमें बहुत सारा पैसा कमाने की संभावना होती है। एफिलिएट मार्केटिंग वास्तव में बहुत मदद करती है।

 

>>एफिलिएट मार्केटर के लिए सफलता प्राप्त करने की योजना

 

यदि आप एफिलिएट मार्केटिंग में अपने लिए एक वास्तविक सफलता की तलाश कर रहे हैं, तो यहां आपके लिए 6 चरणों की योजना दर्शायी गयी है और यह 100% काम करती है।

 

#. एक माइक्रो विषयवस्तु साइट बनाएँ

ज्यादातर एफिलिएट मार्केटर्स एफिलिएट मार्केटिंग में पैसा माइक्रो विषयवस्तु वेबसाइट्स के जरिए कमाते हैं। इससे यह तात्पर्य है की आपको भी एक ऐसी वेबसाइट बनानी चाहिए जो बहुत विशिष्ट उत्पाद पर केंद्रित हो।

 माइक्रो विषयवस्तु साइट बनाने के 2 फायदे होते हैं-

  • Google को माइक्रो विषयवस्तु साइट सबसे ज्यादा पसंद है और इसलिए आपको गूगल से अधिक ट्रैफ़िक मिलेगा।
  • लोग आपकी वेबसाइट को इस विशेष विषय और एक विशेषज्ञ साइट के रूप में मानेंगे जिससे आपकी बिक्री अधिक होगी।

इसकी अत्यधिक अनुशंसा है कि आप एक EMD (एक्सएक्ट मैच डोमेन) साइट बनाएँ। हालाँकि Google से EMD वेबसाइट बनाने के लिए एक अपडेट था, लेकिन यह कम गुणवत्ता वाली साइटों के लिए था और मैं आपको अपनी साइट को गुणवत्ता प्रदान करने की सलाह दूंगा।

 

#. सही विषयवस्तु पर निशाना लगाए

Google के अंतर्गत 2 प्रकार की खोजें सम्मिलित हैं। एक सूचनात्मक खोज है और अन्य खरीदार खोज है। जैसे-

  • सूचनात्मक खोज में किसी सेलेब्रिटी की ख़बर, राजनीति की ख़बरें, कोई जवाब खोजना आदि जानकारियाँ आती है।
  • खरीदार खोज में 2 उत्पादों के बीच तुलना, कुछ उत्पादों की समीक्षा, सस्ता या सबसे अच्छा विकल्प खोजना आदि खरीदार की खोज में आता है।

इसलिए एफिलिएट मार्केटिंग में हमेशा आपका आला खरीदार की खोज से संबंधित होना चाहिए।

 

#. एकल उत्पाद प्रोत्साहन के साथ कार्य प्रारंभ करें

एक शुरुआती मार्केटर को एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में कई चीजे सीखनी होती है जो कोई भी स्कूल में नहीं पढ़ाता है। इसलिए जब तक आप पूरी तरीके से तकनीकों को सीख नहीं लेते तब तक आपको धैर्य रखना होगा।

आपको शुरू में अपने स्तर पर एकल उत्पाद प्रोत्साहन के साथ कार्य की शुरुआत करनी चाहिए। आपके सभी प्रयास एक ही स्थान पर केंद्रित होंगे। आपको अपने कार्य में कई ऐसे सफल मार्केटर मिलेंगे जिन्होंने पहला पैमाना पाने के लिए कई महीने कड़ी म्हणत की हैं क्योंकि वे सीखने की प्रक्रिया में हैं।

लेकिन, एक बार जब वे मार्केटर उचित ज्ञान अर्जित करने में अपने आप को सफल बना लेते हैं, तो वे आसानी से अच्छी बिक्री कर सकते हैं।

 

#. पूर्णता की प्रतीक्षा मत करें

आप अपने स्तर पर ऐसे कई इंटरनेट मार्केटर्स का पता लगा सकते है जिन्होंने एफिलिएट मार्केटिंग से एक पैसा भी नहीं कमाया और वह इस विकल्प में नाकाम हो गए। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उन्हें पहली एफिलिएट साइट प्राप्त करने में लंबा समय लगा था। वे सही वेबसाइट चुनने के चक्कर में कई रूपये खो देते हैं। इसके उपरांत लंबे समय के बाद एक परफेक्ट वेबसाइट चुनने के बाद भी, उन्हें यही लगता है कि वेबसाइट से जुड़ा काम बहुत ज्यादा है और इस प्रकार वे इस विकल्प से हार मान लेते हैं। यदि आप भी एक परफेक्ट वेबसाइट चुनने वेबसाइट चुनने के लिए परेशान हैं, तो आप भी अपना पैसा खो सकते हैं। इसके लिए आपको एक वेबसाइट को जल्दी से चुनना होगा और उसके लिए प्रचार तुंरत शुरू करने होंगे। Top Successful Marketing Strategies For Affiliate Marketers In Hindi

 

>> इन नियमों का पालन करें

 

क्या आप भी एफिलिएट मार्केटिंग के साथ सफल होना चाहते है? आपको सफल होने के लिए ऐसे कई सहबद्ध विपणन नियमों का पालन करना होगा। आपकी सफलता का मतलब है सही मायने में ऑनलाइन पैसा कमाना। आपको अपने सफलता के रास्ते में विभिन्न नुकसान हो सकते हैं, लेकिन सही दिशानिर्देशो की मदद से इस तरह के नुकसान से बचना संभव हो सकता है।

एफिलिएट मार्केटिंग की बात की जाए तो यह एक व्यावसायिक संबंध है जिस पर एक व्यक्ति को एक वेबसाइट पर लोगों को संदर्भित करने के लिए भुगतान किया जाता है। इसमें विक्रेता कई प्रकार के उत्पादों और सेवाओं को उसके सामने रख सकता है।आपकी मदद से कई विक्रेताओं को एक बड़ी बिक्री तेजी से करने के में मदद मिलती है और वह आपको भी लाभान्वित करते है। इन विक्रेताओं को बैनर या पोस्टर के लिए जाने की जरूरत नहीं है क्यों की सहयोगी कंपनियों के संदर्भ में इनकी बिक्री को बढ़ावा मिलता है। इसके बदले में सहयोगी मार्केटर्स को अपनी नौकरी के लिए कमीशन मिलता है।

 

>> सफलता चेकलिस्ट

 

#. बाजार के लिए एक उत्पाद या सेवा चुनें

आपको पैसे कमाने के लिए हमेशा ऑनलाइन उत्पाद या सेवा चुननी चाहिए और उनकी ऑनलाइन मार्केटिंग के बारे में निर्णय लेना चाहिए। सभी प्रकार के लोगों में कमीशन दर के साथ-साथ मांग को देखने की प्रवृत्ति होती है। लेकिन, अगर आप वास्तव में कमाई करते समय मार्केटिंग के बारे में ज्ञान प्राप्त करना चाहते हैं, तो उत्पाद के लिए क्लिक बैंक या कमीशन जंक्शन एक अच्छा तरीका होगा।

 

#. एक होस्टिंग कंपनी चुनें

आपको हमेशा अपने स्तर पर अपटाइम प्रतिशत के साथ एक होस्टिंग कंपनी चुननी होगी। इस कार्य में आपको होस्टिंग को एक भूमि के रूप में मानना ​होगा और इंटरनेट को अपने घर के रूप में मान लेना होगा। सफल एफिलिएट मार्केटर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा विश्वसनीयता के साथ एक होस्टिंग कंपनी को चुनना है। जिसके बाद वेबसाइट सीधे होस्टिंग कंपनी के पास चली जाती है। यदि आपकी होस्टिंग कंपनी डाउन है, तो आपकी वेबसाइट भी इससे प्रभावित होगी।

अगर आप मेरी माने तो मेरे सुझाव में आपको Hostgator नामक होस्टिंग की कंपनी चुननी चाहिए। अगर आप इस होस्टिंग साइट से जुड़कर Hostgator baby plan लेते हैं, तो आप असीमित डोमेन होस्ट कर सकते हैं। यह होस्टिंग साइट आपकी वेबसाइट को एक अच्छे मुकाम पर लाकर खड़ा कर देगी। Top Successful Marketing Strategies For Affiliate Marketers In Hindi

 

#. कस्टम URL

आपको अपने पेशे में एक छोटा एफिलिएट URL चुनना होगा जो लोगों को आपके उत्पादों को याद रखने में मदद करेगा। यदि आपने एक लंबा URL चुना है, तो इसे कम भिन्नता वाले URL के साथ बदलें। हमेशा विक्रेता आपको एक लंबा URL ही देगा जो आपके पैसे खोने का कारण भी होगा, इसके लिए आप एक नया कस्टम डोमेन चुन सकते हैं। फिर कस्टम डोमेन को एफिलिएट URL पर फॉरवर्ड करें।

यदि आप वर्डप्रेस जैसे वेब प्लेटफॉर्म पर अपनी वेबसाइट बना रहे हैं, तो आप कनेक्टिविटी टूल के रूप में प्लगइन्स का उपयोग कर सकते हैं। यह सुविधा न केवल आपको अपने एफिलिएट लिंक को छोटा करने में मदद करेगी बल्कि आप अपने सभी एफिलिएट लिंक को अच्छी तरह से व्यवस्थित कर सकते हैं और ईमेल, ट्विटर आदि जैसे किसी भी स्थान से क्लिक ट्रैक कर सकते हैं।

 

तो यह थी वह रणनीतियां जो एक व्यक्ति को सफल एफिलिएट मार्केटर बनने में तब्दील करती है। अगर आप इन रणनीतियों को अपने कार्य में आजमाते है तो हम दावे से कह सकते है की आप जरूर लाभान्वित होंगे।

 

Visit More : एक स्टार्टअप में निवेश करने से पहले जानने वाली 10 जरूरी बातें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *